इतने करोड़ में बिकने को तैयार ‘द अशोक’ होटल, सरकार ने तय की कीमत

0
5


The Ashok Hotel Under NMP: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के चाणक्यपुरी में मौजूद ”द अशोक होटल” (The Ashok Hotel) से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ रही है. अब ‘द अशोक होटल’ बिकने को तैयार हैं, उसकी कीमत भी तय हो गई है. केंद्र की मोदी सरकार ने नेशनल मोनिटाइजेशन पाइपलाइन (NMP) योजना के तहत दिल्ली के इस प्रतिष्ठित होटल का सांकेतिक मूल्य 7,409 करोड़ रुपये तय कर दिया है. 

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने NPS योजना की शुरुआत पिछले वर्ष 2021 की थी. जिसके तहत ‘द अशोक’ होटल और उसके निकट स्थित होटल सम्राट भारतीय पर्यटन विकास निगम की संपत्तियां हैं, इस योजना में सूचीबद्ध की गई है. इस बारे में निवेशकों से विचार-विमर्श किया जा चुका है और होटल की बिक्री के लिए केन्द्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी पर विचार किया जा रहा है.

7,409 करोड़ रुपये तय हुई कीमत
दिल्ली में 25 एकड़ क्षेत्रफल में द अशोक होटल फैला हुआ है. अशोक होटल का मौद्रीकरण निजी-सार्वजनिक भागीदारी के जरिए किया जाएगा. इसके लिए सांकेतिक मूल्य 7,409 करोड़ रुपये तय किया है. मंत्री सीतारमण ने अगस्त 2021 में कई क्षेत्रों में अवसंरचना परिसंपत्तियों के मूल्य का लाभ उठाने के लिए 4 साल के लिए 6 लाख करोड़ रुपये की एनएमपी (NMP) की घोषणा की थी. जिसके बाद केंद्र सरकार 2022-23 में अब तक एनएमपी के तहत 33,422 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियों का मौद्रीकरण कर चुकी है.

कोयला मंत्रालय सबसे आगे 
बता दें कि नीति आयोग ने इन्फ्रास्ट्रक्चर लाइन मंत्रालयों के परामर्श से NMP पर रिपोर्ट तैयार की थी. इस रिपोर्ट के मुताबिक 14 नवंबर को नीति आयोग के सीईओ परमेश्वरन अय्यर के साथ बैठक में वित्तमंत्री ने एनएमपी कार्यान्वयन की प्रगति की समीक्षा की थी. सरकार ने 2022-23 में एनएमपी के तहत 33,422 करोड़ रुपये की संपत्ति का मुद्रीकरण किया गया है. मुद्रीकरण के मामले में कोयला मंत्रालय 17,000 करोड़ रुपये जुटाकर सूची में सबसे ऊपर है. 

News Reels

मोनिटाइजेशन के लिए इतना रखा टारगेट 
मोदी सरकार ने 2021-22 में 1 लाख करोड़ रुपये के लेन-देन को पूरा करके कार्यक्रम के पहले साल के 88,000 करोड़ रुपये के लक्ष्य को पार कर लिया है. NPS के ताजा आंकड़ों के अनुसार 2022-23 में 1,62,422 करोड़ रुपये के ओवरऑल एसेट मोनिटाइजेशन के लक्ष्य को हासिल करने में 38,243 करोड़ रुपये की कमी रहने की संभावना है. वही दूसरी ओर वर्तमान वित्तवर्ष में एनएमपी के तहत एसेट मोनिटाइजेशन से संभावित वसूली 1,24,179 करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

नेहरू ने बनवाया था होटल 
चाणक्यपुरी में स्थित द अशोक होटल में 7 मंजिल और 550 कमरे हैं. आलीशान तरीके से बना अशोक होटल के खासियत यहां मौजूद बिना पिलर के सबसे बड़ा कन्वेंशन हॉल को देखने पर मिलती है. होटल अशोक का निर्माण भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा जम्मू-कश्मीर के राजकुमार कर्ण सिंह द्वारा सरकार को दान की गई 25 एकड़ की जमीन पार्कलैंड पर किया था. मशहूर आर्किटेक्ट ई बी डॉक्टर की अगुवाई में अशोक होटल का नक्शा तैयार किया गया था.

ये भी पढ़ें : 

NSO Survey: शहरी इलाकों में जुलाई से सितंबर के बीच बेरोजगारी दर घटकर हुई 7.2 %, एक साल पहले थी 9.8%



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here