मलेशिया के नए प्रधानमंत्री बने अनवर इब्राहिम, देखिए कैसा रहा है राजनीतिक सफर

0
3


Anwar Ibrahim: मलेशिया की राजनीतक उथल-पुथल पर अब विराम लग गया है. आम चुनावों में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने पर राजनीतिक अनिश्चितता देखी जा रही थी. हालांकि मलेशिया के सुल्तान अब्दुल्ला सुल्तान अहमद शाह ने इस पर विराम लगा दिया है. उन्होंने विपक्षी नेता अनवर इब्राहिम को देश का नया प्रधानमंत्री घोषित कर दिया है. अनवर इब्राहिम के नेतृत्व वाले पाकतन हरपन गठबंधन को सबसे ज्यादा 82 सीटें मिली थीं. 

मुहयिदीन यासिन गठबंधन से अनवर इब्राहिम के गठबंधन के बीच कांटे का संघर्ष देखने को मिला. अनवर के एलायंस ऑफ होप गठबंधन ने 222 सदस्यीय संसद में 82 सीटें हासिल कीं, जबकि पूर्व प्रधान मंत्री मुहीदीन यासिन के नेतृत्व वाला नेशनल एलायंस 73 सीटें ही जीतने में कामयाब हो सका. निवर्तमान प्रधानमंत्री इस्माइल साबरी याकूब के नेतृत्व वाले यूनाइटेड मलयेज नेशनल ऑर्गेनाइजेशन (यूएमएनएल) को जनता ने बुरी तरह से नकार दिया है.

कौन हैं अनवर इब्राहिम?

अनवर इब्राहिम मलेशिया के 10वें पीएम पद की शपथ लेंगे. वो 1990 के दशक में देश के डिप्टी पीएम रह चुके हैं. हालांकि तत्कालीन प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने देश में आए आर्थिक संकट का पूरा ठीकरा उनपर फोड़ते हुए उन्हें 1998 में सरकार से बाहर कर दिया था. 1998 में भ्रष्टाचार के आरोपों में वे जेल भी जा चुके हैं. कोर्ट में पेशी के दौरान उनके साथ मारपीट हुई में उनकी एक आंख काली पड़ गई थी और जेल से बाहर आते ही उन्होंने इसे ही अपनी पार्टी का चुनाव चिह्न बना लिया था.

News Reels

उन्हें सुधारवादी नेता भी कहा जाता है. साथ ही वो भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जा चुके हैं, लेकिन उन्होंने इसे राजनीति से प्रेरित बताया था. अनवर साथ ही 2018 में प्रधानमंत्री इन वेटिंग थे. 2018 के आम चुनावों में भी इस गठबंधन को विजय हासिल हुई थी, लेकिन सत्ता को लेकर संघर्ष के चलते 22 महीने में ही इस गठबंधन की सरकार की सरकार गिर गई थी. सरकार गिरने के बाद से ही मलेशिया में राजनीतिक अस्थिरता जारी है. 

पीएम मोदी ने भी उनको बधाई दी

मलेशिया के नए प्रधानमंत्री के रूप में अनवर इब्राहिम के नाम की घोषणा होने के बाद पीएम मोदी ने भी उनको बधाई दी. पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा कि, मलेशिया का प्रधानमंत्री चुने जाने पर अनवर इब्राहिम को बधाइयां. मैं भारत-मलेशिया के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने के वास्ते साथ मिलकर काम करने के लिए उत्सुक हूं. बता दें कि मलेशिया में बड़ी संख्या में भारतीय रहते हैं. 

ये भी पढ़ें-जाकिर नाइक पर क्या हैं आरोप, क्यों कई सालों से मलेशिया में ही कर रहा ऐश



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here