रेप का आरोप लगाने वाली लेखिका ने ट्रंप के खिलाफ दायर किया मानहानि का मुदकमा

0
3


Donald Trump Defamation Case: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक नई मुसीबत में फंस गए हैं. ट्रंप पर लेखिका (ई. जीन कैरोल) ने मानहानि का मुकदमा दायर किया है. ये वही लिखिका हैं, जिन्होंने ट्रंप पर बलात्कार का आरोप लगाया था. ई. जीन कैरोल के वकील ने इलेक्ट्रॉनिक रूप से कानूनी कागजात दाखिल किए, क्योंकि एडल्ट सर्वाइवर एक्ट ने यौन हमले पर मुकदमा करने के लिए राज्य की सामान्य समय सीमा को अस्थायी रूप से हटा दिया है.

लेखिका ने दर्द और पीड़ा, मनोवैज्ञानिक नुकसान, गरिमा हानि और प्रतिष्ठा क्षति के लिए दंडात्मक क्षति की मांग की है. एले पत्रिका के लिए एक लंबे समय तक सलाह स्तंभकार कैरोल ने पहली बार 2019 की एक किताब में दावा किया था, जिसमें कहा गया था कि ट्रंप ने 1995 या 1996 में मैनहट्टन लक्जरी डिपार्टमेंटल स्टोर के ड्रेसिंग रूम में उसके साथ बलात्कार किया था.

‘मेरे टाइप की नहीं थी’

ट्रंप ने किताब के आरोपों का जवाब देते हुए कहा था कि ऐसा कभी नहीं हो सकता, क्योंकि कैरोल “मेरे टाइप की नहीं थी.” उनकी टिप्पणियों ने कैरोल को उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने के लिए प्रेरित किया, लेकिन उस मुकदमे को अपील अदालतों में बांध दिया गया है, क्योंकि न्यायाधीश यह तय करते हैं कि वह राष्ट्रपति रहते हुए की गई टिप्पणियों के लिए कानूनी दावों से सुरक्षित हैं या नहीं.

News Reels

पहले क्यों नहीं हुआ मुकदमा दर्ज?

इससे पहले, कैरोल को राज्य के कानून ने कथित बलात्कार पर मुकदमा करने से रोक दिया था, क्योंकि इस घटना को कई साल बीत चुके थे. वहीं अब न्यूयॉर्क का नया कानून, यौन अपराध पीड़ितों को मुकदमा दायर करने का दूसरा मौका देता है. 

‘कैरोल ने कहानी गढ़ी’

ट्रंप ने अपने बयान में कहा कि कैरोल ने “पूरी तरह से एक कहानी गढ़ी कि मैं उनसे इस भीड़भाड़ वाले न्यूयॉर्क सिटी डिपार्टमेंट स्टोर के दरवाजे पर मिला और कुछ ही मिनटों में उन्हें बेहोश कर दिया. यह एक छलावा और झूठ है, ठीक वैसे ही जैसे पिछले सात सालों में मुझ पर खेले गए अन्य सभी झांसे हैं.”

ये भी पढ़ें- Iphone हैक करने वाले शख्स को एलन मस्क ने इंटर्न रखा, Twitter में मिली अहम जिम्मेदारी, 12 हफ्तों में करना होगा यह काम



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here